देश में एक और टीके की एंट्री: केंद्र सरकार का सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा, 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए जल्द आएगी जायडस कैडिला की वैक्सीन

0
51


  • Hindi News
  • National
  • Affidavit Of The Central Government In The Supreme Court, Zydus Cadila’s Vaccine Will Come Soon For The Age Group Of 12 To 18 Years

नई दिल्ली21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जायडस कैडिला ने वैक्सीन के तीसरे फेज के अंतरिम परिणाम की जानकारी सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) को दे दी है।

कोवीशील्ड, कावैक्सिन और स्पुतनिक V के बाद जल्द ही देश में एक और वैक्सीन की एंट्री होने वाली है। 12 से 18 साल के आयु वर्ग के लिए भारतीय फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन जल्द ही देश में आएगी। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को दिए हलफनामे में इस बात की जानकारी दी है।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा कोविड मैनेजमेंट को लेकर 31 मई को उठाए गए सवालों के जवाब में स्वास्थ्य मंत्रालय ने 375 पेज का हलफनामा दिया है। कोर्ट ने सभी उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर सरकार से सवाल किया था।

इससे पहले 18 जून को भास्कर ने बताया था कि देश में अगले 10 दिनों में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भारतीय कंपनी जायडस कैडिला की ओर से तैयार की गई वैक्सीन 12 से 18 वर्ष आयु वर्ग के लिए उपलब्ध हो जाएगी। जायडस कैडिला की ओर से तैयार की गई यह वैक्सीन 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के लिए भी कारगर होगी। जायडस की ओर से सरकार के उच्च अधिकारियों को यह सूचना दी गई थी कि जल्द ही वह भारत में अपनी वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी के लिए आवेदन करेगी।

तीसरे फेज के अंतरिम परिणाम की दी जा चुकी है जानकारी
कंपनी की ओर से तीसरे फेज के अंतरिम परिणाम के संबंध में भी सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) को जानकारी दी गई है। यह भी बताया गया था कि किसी भी दिन कंपनी की ओर से आपात इस्तेमाल की इजाजत मांगी जाएगी। आवेदन आने के 2-3 दिनों के अंदर ही सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) की बैठक बुलाकर कंपनी की ओर से पेश किए गए तीसरे फेज के परिणाम की रिपोर्ट के आधार पर अनुमति दी जा सकती है।

शुरुआत में 3 डोज की होगी वैक्सीन
जायडस कैडिला की वैक्सीन शुरुआती दौर में 3 डोज की होगी। लेकिन, आने वाले समय में इसे भी अन्य वैक्सीन की तरह दो डोज की वैक्सीन बनाने पर भी काम चल रहा है। सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि वैक्सीन की कीमत तो अभी तय नहीं हुई है, लेकिन यह किफायती होगी। कंपनी की प्रति माह एक करोड़ डोज बनाने की क्षमता है।

12 से 18 वर्ष के 26 करोड़ बच्चे, अब तक इनके लिए नहीं था टीका
जायडस कैडिला को जनवरी-2021 में थर्ड फेज के ट्रायल की अनुमति मिली थी। इसमें 28 हजार लोगों पर ट्रायल किया गया। डीएनए टेक्नोलॉजी से तैयार यह पहली वैक्सीन है। 12 से 18 वर्ष की उम्र के बच्चों की आबादी देश में 25 से 26 करोड़ तक है। इनके लिए अभी तक देश में वैक्सीन उपलब्ध नहीं है।

फाइजर और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को कई देशों में बच्चों के लिए सुरक्षित माना गया है। मगर अभी तक भारत में दोनों उपलब्ध नहीं हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here